Company मे CEO कौन होता है सीईओ कैसे बने? | CEO full form in hindi

क्या आप CEO के विषय मे जानकारी चाहते, आपको नही मालूम CEO कौन होता है. Company मे CEO full form क्या होती है (CEO Full Form In Hindi). कंपनी मे ceo की क्या ज़िम्मेदारी होती है और आप कैसे CEO बन सकते है. आज हम इस विषय मे विस्तार से जानकारी प्राप्त करने वाले है.

सीईओ किसी भी कंपनी का एक बहुत बड़ा पार्ट होता है क्योकि किसी भी कंपनी मे अगर मालिक (company owner) के बाद अगर कोई दूसरा मालिक कहें तो सीईओ ही होता है. कंपनी के सारे बड़े छोटे निर्णय सीईओ के बिना नही लिए जा सकते है.

सीईओ सारे निर्णय कंपनी के हित मे लेता है उसकी रिपोर्ट वह कंपनी के बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर या अध्यक्ष को भेजता है. इसके बाद ही वह आगे की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए employees को इन्सट्रक्शन देता है.

इसलिए आज हम Company मे CEO कौन होता है, CEO कैसे बने (CEO kaise bane), सीईओ का फुल्ल फॉर्म (CEO Full Form in Hindi) से संबन्धित सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे. तो सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढे.

Company CEO का क्या पद है?

CEO किसी कंपनी मे मुख्य करता धरता होता है वह पूरी तरह से company को manage करता है. उसके लिए नई-नई नीतियाँ बनाता है ताकि कंपनी को उन्नति की ओर ले जाया जा सके. कंपनी मे किसी चीज़ मे बदलाब करने का अधिकार सीईओ के पास होता है.

अपनी company मे staff को manage और उनको हर तरह से काम करने के लिए motivate रखना उसे बहुत अच्छे से आता है. ताकि स्टाफ या employees से कठिन से कठिन कार्य भी बहुत ही कुशलता के करवा लेता है. कंपनी से जुड़ी सारी जानकारी वह चेयरमैन या Board of director को समय-समय पर अवगत कराता रहता है.

किसी Company के CEO को बिज़नस मार्केटिंग मे काफी अच्छा अनुभव रहता है और कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए एक कुशल रणनीतिकार होता है. उसको अपनी इंडस्ट्री से संबन्धित competitor की अच्छी नॉलेज होती है.

सीईओ की फुल्ल फॉर्म (Company CEO full form in hindi)

Company मे CEO ki full form ” Chief executive officer ” होती है जिसे हम हिन्दी मे मुख्य कार्यकारी अधिकारी (managing director) कहते है. यानि किसी company या organisation मे अहम निर्णय लेने वाले अधिकारी को हम सीईओ (CEO) कहते है.

सीईओ कैसे बने (How to become CEO?)

किसी कंपनी मे CEO बनने के लिए किसी महत्वपूर्ण डिग्री की जरूरत नही होती. ये आपकी काबिलियत को देखकर Board of directors के द्वारा लिया गया एक अहम निर्णय होता है. लेकिन अगर ज्यादातर कंपनीस मे सीईओ की बात करें तो उसके पास MDA या Technical Degree होती है.

इसलिए आप अगर CEO के पद पर जाना चाहते है तो आप अच्छी Technical Degree या MBA जरूर कर ले और Practical रूप से अनुभव जरूर ग्रहण करें ताकि आप किसी बड़ी कंपनी मे जाने के योग्य हो जाये.

सीईओ के पद के लिए आपको अनेकों कंपनी को स्टडि करना बहुत जरूरी है ताकि वे कंपनियाँ कैसी रणनीति बनाती है. उनसे बहेतर क्या किया जा सकता है उनकी कंपनियो मे और क्या बहेतर कदम उठाए जा सकते है. आप चाहे तो अपना द्रष्टिकोण उन कंपनियो के आगे प्रस्तुत कर सकते है.

अगर आपकी बात उन्हे अच्छी लगे और वह उनके लिए कारगर साबित हुई तो वो आपके विषय मे सोच सकते है. और आपके हित मे निर्णय ले सकते है.

सीईओ की जिम्मेदारियाँ (CEO Responsibilities)

CEO के पद को ग्रहण करने के बाद कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लेने और सीईओ की कुछ महत्वपूर्ण जिम्मेदारियाँ होती है ये निम्न है. जिनके बारे मे हम आपको यहाँ बताने जा रहे है.

  • CEO company के हित मे महत्वपूर्ण निर्णय ले सकता है और उसका निर्णय आखिरी निर्णय भी हो सकता है.
  • CEO अपने स्टाफ को stable और अच्छा environment देता है ताकि वे अच्छे से काम कर सके.
  • CEO employees की need को समझता है, उनको सपोर्ट करता है और उनको motivate और inspire रखता है.
  • नए employees को नियुक्त करने मे recruiters की मदद करता है.
  • गवर्नमेंट,शेयर होल्डर और इन्वेस्टर्स के साथ सीईओ communicate कर सकता है.
  • short term और long term strategies को बनाना.
  • कंपनी के competitor के उपर नजर रखना.
  • कंपनी के Mission और vision को पूरा करने के लिए अहम निर्णय लेना.

इस तरह की जिम्मेदारियाँ कंपनी के सीईओ के उपर होती है और हम सीईओ को कंपनी का दूसरा मालिक भी कह सकते है. इसलिए किसी भी कंपनी मे सीईओ के लिए एक अच्छा अनुभव होना अतिआवश्यक है.

सीईओ की सैलरी (CEO Salary)

आपके मन मे शायद यह सबाल जरूर आया होगा क्योकि यह स्भाविक होता है और हर आदमी की ज़िंदगी मे सोचने पर मजबूर कर देता है. हम इंडिया के दो महत्वपूर्ण सीईओ की बात करें जिनका नाम आप सब जरूर जानते होंगे.

सुंदर पिचाई ( Sundar Pichai )

सत्या नाड़ेला ( Satya Nadela )

सुंदर पिचाई: ये गूगल के सीईओ है जिनकी एक साल की annual salary (Bonuses+stock grants) करीब 200 मिलियन यूएसडी डॉलर ($200 million) है. अगर हम इसे इंडियन रूपीस मे कन्वर्ट करें तो करीब 15 अरब से भी ज्यादा ये सालाना कमाते है.

सत्या नडेला: ये माइक्रोसॉफ़्ट के सीईओ है अगर हम सिर्फ इनकी सैलरी की बात करें तो करीब 44 मिलियन डॉलर ($44 million) रुपये है जिसे हम इंडियन रूपी मे कन्वर्ट करें तो करीब सालाना इनकी सैलरी 330 करोड़ रुपये के आसपास है.

सीईओ बनने के लिए 5 टिप्स

1.अनुभव को प्राप्त करना

सीईओ बनने के लिए सबसे जरूरी चीज़ आपको चीज़ों को गहन अध्यन करना आना चाहिए. आपकी अपनी शैक्षिक योग्यता से ज्यादा आपके पास आपके पास एक अच्छा अनुभव होना चाहिए. इसमे आपकी शैक्षिक योग्यता इतनी matter नही करती है.

2.सही स्किल्स को विकसित करना

सीईओ की पद को पाने और बड़ी उचाई के पद पर पहुँचने के लिए आपके अपने अंदर सही स्किल्स को developed करना बहुत जरूरी है. आइए इन स्किल्स के विषय मे समझने की कोशिश करते है.

  • Leadership skills
  • Risk Appetite
  • Time Punctual
  • Decision making
  • Stress Management
  • Good Communication skills
  • Self Awareness
  • Resourcefulness
  • Self Confidence
  • Strategic Planning

3.रिस्क लेने की क्षमता

आपको कंपनी के हित मे रिस्क लेने मे पीछे नही हटना चाहिए आपके अंदर रिस्क लेने की क्षमता होनी चाहिए क्योकि कई बार आपको कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए रिस्क लेना पड़ता है. इसलिए आपमे यह स्किल होनी चाहिए.

4.अच्छे व्यवहारिक संबंध

सीईओ मे एक सबसे खास बात ये भी होती है कि उसके व्यवहारिक संबंध काफी अच्छे होते है. वे लोग अक्सर ही event attend करने जाते है, दूसरी कंपनियो के साथ बिज़नस कांट्रैक्ट के साथ अच्छे व्यवहारिक संबंध स्थापित करते है. आप कॉर्पोरेट से अच्छे संबंध बनाने के लिए linkdin इत्यादि का इस्तेमाल कर सकते है.

5.रचनात्मक बने

कंपनी मे अपने आपको अलग दिखने के लिए कुछ नया करने की जिद आपके अंदर होनी चाहिए. आपके अंदर कुछ रचनात्मक कार्य करने की इच्छा होनी चाहिए. जो आपको दूसरों लोगो की भीड़ से अलग दिखा सके

आज हमने सीखा

आज हमने Company CEO कौन होता है (CEO Kaun Hota Hai), उसकी क्या जिम्मेदारियाँ होती है. सीईओ की फुल्ल फॉर्म (CEO Full Form In Hindi) क्या होती है इत्यादि के विषय मे विस्तार से जाना है.

कंपनी मे सीईओ का पद मालिक के बाद का होता है हम ऐसा कह सकते क्योकि सीईओ कंपनी के हित मे कोई भी बड़ा निर्णय ले सकता है.

हमे आशा है की आपको समझ आया होगा अगर किसी चीज़ को समझने मे आपको दिक्कत आ रही है तो आप हमे कमेंट करके नीचे जरूर बताए हमारी टीम आपसे जल्द संपर्क करेगी.

अगर आपको भी कम्प्युटर android, Mobile, technology, software और apps से संबन्धित जानकारी पढ़ना पसंद है तो हमारी साइट की नोटिफ़िकेशन bell को द्वाकर follow कर सकते है ताकि हमारी नई आने वाली पोस्ट आप तक सबसे पहले पहुंच सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *