दुनिया का पहला मोबाइल फोन किसने बनाया?

दुनिया का पहला मोबाइल किसने बनाया क्या आपने कभी इस विषय मे आपको मालूम है. आजकल technology इतनी आगे जा चुकी है कि तरह तरह के smartphone आ चुके है. हर एक काम बहुत ही आसानी से हो जाता है आप बहुत से तेज़ी से पैसे ट्रान्सफर,लोकेशन पता करना, किसी के बारे मे जानकारी हासिल करना इत्यादि जैसे काम हम बहुत ही आसानी से कर पाते है.

लेकिन जब मोबाइल फोन पहली बार बनाया गया था तब क्या features थे, वह फोन किस तरह का दिखाता था. उस मोबाइल बजन कितना था,किसने बनाया था, क्या वह वायर्लेस था,उसका नाम क्या था. ऐसे सबाल आपके मन मे जरूर आए होंगे.

यहाँ पर आज हम दुनिया के पहले मोबाइल फोन किसने बनाया (duniya ka pahla mobile kisne banaya?) के बारे मे विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे. पूरी जानकारी के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढे.

दुनिया का पहला मोबाइल किसने बनाया? (duniya ka pahla mobile phone)

दुनिया का पहला मोबाइल फोन 1973 ने मोटोरोला कंपनी ने बनाया था जिसका नाम motorola 8000X था. मार्टिन कपूर मोटोरोला मे जनरल मैनेजर थे जिन्होने 3 अप्रैल 1973 को यह फोन लॉंच किया गया था. इसी दिन को टेलीफ़ोन के बर्थड़े के रूप मे मनाया जाता है. यह फोन radio frequency पर काम करता था यह एक modern portable phone था जोकि 0G ( zero generation ) टेक्नालजी पर काम करता था.

काभी किसी ने सोचा भी नही था कि कोई एक जगह से दूसरी जगह किसी से बात कर पाएगा लेकिन मार्टिन कपूर ने यह कर दिखाया. इसके बाद फिर कई सारे लोगो ने मोबाइल को और बहेतर बनाने के लिए काम करना शुरू कर दिया.

पहला मोबाइल फोन किस देश ने बनाया था? (pahla phone banane waale desh ka naam)

पहला मोबाइल फोन मार्टिन कपूर द्वारा अमेरीका मे मोटोरोला कंपनी के general manager system division के नाम पर जाता है. इसके बाद जापान मे पहला cellular network mobile 1979 मे 1G के रूप मे Nippon telegraph and telephone (NTT) के द्वारा लॉंच किया गया. इसके बाद 1983 मे motorola ने मोबाइल को commercially आम आदमी के लिए सबसे पहले बाजार मे उतारा.

पहले मोबाइल फोन का बजन कितना था? (pahle phone ka weight)

पहला मोबाइल जोकि मोटोरोला कंपनी ने बनाया था इसका बजन करीब 1.1kg के आसपास था. हम आपको बता दे 1917 मे Finnish आविष्कारक Eric Tigerstedt ने “बहुत पतले आकार का माइक्रोफोन” patent दायर किया. मोबाइल फोन पर काम बहुत ही पहले से किया जा रहा है लेकिन दूसरे विश्वयुद्ध के बाद इस पर काम और भी तेज़ी से किया जाने लगा.

दुनिया का पहला फोन कैसे काम था? (How first phone works)

दुनिया का पहला फोन किस तरह से काम करता था क्या आपको मालूम है. किस तरह कि technic इसमे इस्तेमाल की जाती थी. अगर नही मालूम तो हम आपको बता की यह radio frequency पर काम करता था जिसमे एक एरिया होता था. जहां पर आप रहकर आप बात कर सकते थे आप जैसे ही telephone service area से बाहर होते थे. आप बात नही कर सकते थे यहीं बात उस दूसरे व्यक्ति के लागू होती थी.

क्या इसमे सिम का इस्तेमाल किया जाता था? (sim ka upyog)

आपके मन मे यह सबाल जरूर आया होगा कि क्या यह फोन किसी सिम के उपर काम करता था तो इसका जवाब पूरी तरह से नही है. यहाँ पर किसी भी तरह के सिम का इस्तेमाल नही किया जा रहा था. क्योकि दुनिया का पहला सिम जर्मनी कंपनी ने 1991 मे बनाया था इसलिए दुनिया के पहले फोन मे किसी तरह के सिम का उपयोग नही किया गया.

बैटरी बैकप कितना था? (battery backup )

आज हम जितने मोबाइल फोन का वर्तमान मे इस्तेमाल कर रहे है उनका battery backup कम से कम एक दिन का होता है क्योकि आजकल हम लोग smartphones का इस्तेमाल कर रहे है. वो भी आपको कम से कम 1 दिन बैटरि बैकप प्रदान करते है. लेकिन क्या आपको मालूम दुनिया के पहले फोन का battery backup कितना था.

मार्टिन कपूर द्वारा बनाए गए इस फोन मे सिर्फ एक बार चार्ज करने मे 10 घंटे का समय लगता था. लेकिन यह 30 मिनट ही battery backup दे पाता था. यानि अपने एक बार चार्ज कर लिया तो आप 30 मिनट ही इसका इस्तेमाल कर पाएंगे.

दुनिया का पहला फोन महत्वपूर्ण FAQs

प्रश्न1: दुनिया का पहला कौनसा है?

उत्तर: दुनिया का पहला फोन motorola company के शोधकर्ता मार्टिन कपूर ने बनाया था जोकि radio frequency signal पर करता था.

प्रश्न2: दुनिया का पहला फोन किस देश ने बनाया था?

उत्तर: दुनिया का पहला फोन अमेरीका मे motorola के शोधकर्ता मार्टिन कपूर ने बनाया था.

प्रश्न3: दुनिया का पहला मोबाइल किस कंपनी ने बनाया था?

उत्तर: दुनिया का पहला फोन motorola ने बनाया था.

प्रश्न4: दुनिया का पहला फोन किस कंपनी ने बाजार मे उतारा था?

उत्तर: दुनिया का पहला बिकने के लिए motorola company ने बाजार मे’ उतारा था.

प्रश्न5: दुनिया के पहले मोबाइल फोन का नाम क्या था?

उत्तर: इस पहले मोबाइल का motorola 8000X था.

आज हमने सीखा

आज हमने दुनिया का पहला फोन कौनसा था के विषय मे विस्तार से जानकारी प्राप्त और समझा कि इस मे किस तरह के खास features थे. यह फोन किस तरह radio signals पर काम करता था. इसके अलावा इस फोन का battery backup मात्र 30 मिनट का था जबकि इस फोन को चार्ज करने के लिए 10 घंटे का समय लगता था.

हमे आशा है कि आपको दुनिया के पहले फोन के बारे जानकारी पढ़कर अच्छा लगा होगा. अगर आप ऐसे कम्प्युटर,इंटरनेट,mobile apps, finance,tips & tricks से संबन्धित जानकारी पढ़ना पसंद करते है. तो आप हमारी वैबसाइट की नोटिफ़िकेशन वेल दवाकर फॉलो कर सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *