लहसुन मे पोटेशियम की मात्रा कितनी होती है और इससे क्या लाभ है?

लहसुन हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है लेकिन लहसुन मे उपस्थ्ति पोटेशियम भी स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है. पोटेशियम की सही मात्रा हमारे शरीर मे होना कितना जरूरी है इसकी कमी से किडनी स्टोन,हाइ ब्लड प्रेशर, वाटर Water Retention, स्ट्रोक प्रोब्लेम इत्यादि की चपेट मे आ सकता है.

वैसे तो लहसुन का उपयोग हर समय ही लोग खाने मे इस्तेमाल करते है लेकिन सर्दियों मे कुछ ज्यादा ही उपयोग किया जाता है क्योकि ये बहुत गर्म होता है. इससे सर्दियों मे ठंडी कम लगती है और हमारा शरीर गर्म रहता है. वहीं अगर आपको जुकाम हो जाता है तो आप खाली पेट इसको सुबाह खा सकते है जिससे आपको बहुत आराम मिलता है.

लहसुन हमारी बॉडी मे तीसरा सबसे प्रचुर मात्रा मे पाया खनिज (Mineral) है और आपके शरीर मे खून को सही तरीके से प्रवाह करने, मसल्स को नियंत्रित (Regulate) करने मे काफी मदद करता है.

इसलिए आज की पोस्ट मे लहसुन मे पोटेशियम की मात्रा (lahsun potassium ki matra) कितनी होती है, के विषय मे सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने वाले है.

पोटेशियम क्या है और कितना बॉडी मे पाया जाता है?

पोटेशियम हमारे शरीर मे इलेक्ट्रोलाइट के रूप मे पाया जाता है पोटेशियम पानी के साथ बहुत सक्रिय (reactive) होता है. जब यह पानी मे विघटित होता है तब यह पॉज़िटिव और नगेटिव आयन देता है और ये आयन Eletricity पैदा करते है. Potassium ions पर positive charge होता है.

lahusn mein potassium ki matra

एक मनुष्य के शरीर मे 98% प्रतिशत पोटेशियम उसके cells मे पाया जाता है और इसका भी 80% प्रतिशत हिस्सा muscle के काम मे आता है. पोटेशियम मे उपस्थित पॉज़िटिव आयन, आपके शरीर मे Electricity पैदा करती है जिससे आपका nerves system, muscle Contraction, Blood के संचार मे बहुत बढ़ा रोल निभाते है.

लेकिन इसकी अधिक मात्रा आपको नुकसान पहुंचा सकती है क्योकि पानी का 40% हिस्सा आपके सेल्स Intracellular Fluid के रूप मे पाया जाता है. इसके अलावा बचा हुआ 60 प्रतिशत भाग खून, बैकवोन रीढ़ मे पाया जाता है.

इसके ज्यादा होने से आपके शरीर पर डाइरैक्ट इफैक्ट पड़ता है इसलिय पोटेशियम की सही मात्रा जरूरी है.

लहसुन मे पाये जाने वाले तत्व

लहसुन सबसे ज्यादा चीन मे उगाया जाता है उसके बाद दूसरे नंबर पर भारत का नाम आता है.  लहसुन के इस पौधे का वैज्ञानिक नाम एलियम सैटिवुम एल है. इसमे उपस्थित सल्फर के कारण लहसुन तीखा और दुर्गंध देता है. लहसुन को पीसने पर ऐलिसिन नामक यौगिक प्राप्त होता है जो प्रतिजैविक विशेषताओं से पूर्ण रूप भरा होता है.

इसके अलावा लहसुन मे अन्य पोषक तत्व प्रोटीन 6.3 प्रतिशत , वसा 0.1 प्रतिशत, चूना 0.3 प्रतिशत, लोहा 1.3 मिलीग्राम, कार्बोज 21 प्रतिशत, खनिज पदार्थ 1 प्रतिशत होता है। इसके अतिरिक्त विटामिन ए, बी, सी एवं सल्फ्यूरिक एसिड विशेष मात्रा में पाई जाती है। 

इसमें एक अन्य विशेष प्रकार का तत्व ऐलीसिन पाया जाता है जिसे एक अच्छे बैक्टीरिया-रोधक, फफूंद-रोधक एवं एंटी-ऑक्सीडेंट के गुण पाये जाते है. इसके अलावा पोटेशियम की अच्छी मात्रा 36.09 mg पाया जाता है.

लहसुन के उपस्थित अन्य पोषक तत्वो के बारे मे जानने के लिए wikipedia/lahsun पर जाकर पढ़ सकते है.

लहसुन खाने के फायदे

लहसुन खाने से बहुत सारे फायदे होते है जिनमे से कुछ के विषय मे हम आपको नीचे बताने वाले है ताकि इसको खाने वाले को फायदे के बारे मे जानकारी होना चाहिए.

इम्यूनिटि बढ़ाने मे सहायक: लहसुन खाने से आपकी इम्यूनिटि पावर को खूब बढ़ा देता है क्योकि इसमे सल्फर पाया जाता है. सल्फर हमारी सफ़ेद रक्त कोशिकाओ को और मजबूत बनाकर आपको सर्दी, जुकाम,वाइरस और फ्लू इत्यादि से आपको बचाए रखता है.

इसलिए अभी कोरोना काल मे इसका सेवन काफी बढ़ गया था क्योकि इससे लोगो को वाइरस से बचने मे काफी सहायता मिलती है।

कैंसर से सुरक्षा:

एक स्टडि मे के अनुसार अगर आप 2 – 3 कलियो का सेवन रोजाना करते है तो आपके शरीर मे कोलेक्ट्रोल कैंसर के खतरे को कम करता है.

हार्ट अटैक से सुरक्षा

आज का खान पान मे मिलावट होने से दुनिया भर मे 26 मिलियन से ज्यादा लोग इस बीमारी से पीड़ित है. लेकिन अगर आप रोज लहसुन का सेवन करते है तो दिल की कई सारी बीमारियो से अपने आप को बचा सकते है.

खून को प्यूरिफाय को करना

अगर आप कील मुहासों से परेशान है तो यह एक खून मे खराबी होने का कारण भी हो सकता है. इससे बचने के लिए आप लहसुन खाये आपको जल्द ही आराम दिखाई देगा.

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना

लहसुन खाने से आपका ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर कंट्रोल मे रहता है क्योकि लहसुन भरपूर मात्रा मे एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है. यह आपके खून के स्तर को कंट्रोल रखने मे आपकी सहायता करता है.

वजन कम करने मे सहायक

मोटापा का शिकार आजकल बहुत युवा और बुजुर्ग वर्ग होता जा रहा है जिससे लोगो का वजन काफी बढ़ जाता है इसलिए आप अपने वजन को कम करना चाहते है तो इसके लिए देशी इलाज़ का उपयोग कर सकते है. इसमे आपको लहसुन की 2-3 कच्ची कलियो को शहद के साथ रोज खाना है.

आपका शरीर जल्द ही पतला होने लगेगा और आपका वजन कम होने लगेगा.

शरीर मे कितनी पोटेशियम की जरूरत

मनुष्य के शरीर मे जरूरी है सही पोषण की मात्रा तभी हमारा शरीर स्वस्थ रह सकता है. एक स्वस्थ मनुष्य ले शरीर मे lahsun mein potassium ki matra लगभग 4700 mg होती है इससे कम या ज्यादा होने पर आप अनेक रोगो की चपेट मे आ सकते है. इसके लिए आप आजतक के पोटेशियम की मात्रा के इस आर्टिक्ल को पढ़ सकते है

FAQs

हमारे शरीर मे कितना पोटेशियम की जरूरत होती है?

एक स्वस्थ मनुष्य के शरीर मे 4700 mg पोटेशियम की जरूरत है.

पके हुये लहसुन मे कितना पोटेशियम पाया जाता है?

पका हुआ (cooked garlic) मे लगभग 20 mg पोटेशियम की मात्रा पाई जाती है.

क्या कच्चा सेहत के लिए लहसुन हानिकारक है?

लहसुन मे एंटि-ऑक्सीडेंट पाया जाता है जिसके कारण आप अधिक कच्चा लहसुन खाते है तब आपके लिवर मे हानिकारक पदार्थ जमा होने लगते है.

लहसुन मे पोटेशियम की मात्रा: निष्कर्ष

आज की इस पोस्ट मे हमने lahsun mein potassium ki matra के बहुत सी जानकारी प्राप्त की. लहसुन को हमे अपने दैनिक जीवन मे जरूर उपयोग मे लाना चाहिए लेकिन काफी लोग लहसुन को तामसिक मानकर इसका सेवन करने से परहेज भी करते है. हम यह सब अपने अनुसार चुन सकते है कि हमे क्या खाना चाहिए यह आपको अपने अनुसार समझना है.

हमे यहाँ पर इसके फायदे और पोटेशियम की मात्रा मे बताया है हमने सभी जानकारी को यहाँ पर बताने का प्रयास किया है ताकि आपको किसी अन्य जगह जाकर कुछ देखने की आवश्यकता न पढे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.