ऑनलाइन मटका कैसे खेलें | Online Satta Matka kaise khelen

Online Satta kaise khelen: ऑनलाइन सट्टा के विषय मे आजकल काफी चर्चा चल रही है हो सकता है आपमे से कुछ लोगो को नही पता हो कि ऑनलाइन मटका कैसे खेलें. लेकिन बहुत ज्यादा संभावना है कि आपने एक बार satta matka के विषय मे जरूर सुना होगा. इंटरनेट पर करीब 75 मिलियन से ज्यादा लोग इसे ऑनलाइन सर्च करते है और यह गूगल सर्च इंजिन की बात है.

ऐसे बहुत-से अन्य सर्च इंजिन है जहां पर satta matka बहुत ज्यादा सर्च किया जाता है. इससे आप अंदाज़ा लगा सकते है कि सट्टा बाज़ार कितनी जोरों से चलता है. पहले ऑफलाइन ही पैसा लगाकर सट्टा खेला जा सकता था जिसमे हर जिले और शहर मे इनके सट्टा माफिया रहते थे वे लोग पैसा लोगो से लगवाने और पैसे जीतने पर बांटने का काम करते थे.

इससे कई बार पुलिस का छापा भी पड़ जाता था और भारी मात्रा मे लोग पकड़े जाते थे लेकिन जैसे आधुनिक डिजिटल वर्ल्ड ने दस्तक दी तो ये लोग भी अपना सट्टा कारोबार ऑनलाइन लेकर आ गए. अब इससे यह फायदा हुआ, लोग अब सट्टा मटका (satta matka online) लगाने के लिए किसी के पास जाना नही पड़ता है जिससे सट्टा कारोबार और भी बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है.

इसलिए अगर आप नही जानते कि सट्टा क्या है (satta kya hai), ऑनलाइन मटका कैसे खेलें (online matka kaise khelen), सट्टे का नंबर कैसे निकलता है और सट्टे का मालिक कौन है, के विषय मे जानने के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढे.

Table of contents

सट्टा मटका क्या है (Satta Matka kya hain)

सट्टा मटका एक प्रकार गैरकानूनी खेल है जिसमे एक मटके मे पर्चियाँ डाली जाती है जिसको एक बच्चे की मदद से बाहर निकाला जाता है. पहली पर्ची द्वारा फ़र्स्ट प्राइज़ निकाला जाता है और उसके बाद कुछ अन्य पर्चियों का भी चयन किया जाता है जिसमे लक्की ड्रॉ भी शामिल होता है.

आपको इसमे 1 से 100 तक के अंक चुनने को कहा जाता है और अगर आपका नंबर मटके मे निकाले गए नंबर से मैच हो जाता है तो आपको निश्चित ही इनाम दिया जाता है. लेकिन हम आपको बता दे कि ऑनलाइन सट्टा मटका (online satta matka ) खेलना पूरी तरह गैरकानूनी है इसमे आपका पैसा डूब भी सकता है. आपको ऐसे satta king website से बचना चाहिए.

इसको खेलते हुये आपको इसकी आदत भी लग सकती है कई सारे लोग लाखो रुपये सट्टे से कमाते है लेकिन बहुत से लोग जोश मे आकार बहुत सारा पैसा लगा देते है जिससे उनका काफी नुकसान होता है.

सट्टा मटका का इतिहास

सट्टा मटका की शुरुआत भारत के आजाद होने से पहले से है. तब इस खेल को Ankada Jugar (“Figures Gambling”) के नाम से जाना जाता था. पहले cotton का एक opening और closing rate हुआ करता था जिसे New York Cotton Exchange द्वारा Bombay Cotton Exchange को teleprinters के द्वारा संचारित किया जाता था. लेकिन कुछ समय बाद New York Cotton Exchange ने अपनी गतिविधियो पर रोक लगा दी.

इसके बाद Punters लोग दूसरे सट्टे की तलाश करने लगे ताकी मटका बिजनेस को जिंदा रखा जा सके. फिर सिंधी प्रवाशी, कारांची पाकिस्तान से Ratan Khatri ने काल्पनिक प्रॉडक्ट और कार्ड्स पर opening-closing rate को तय किया. तब उन्होने यह तय किया कि नंबर एक पर्ची पर लिखकर बड़े मिट्टी के मटके मे डाल दिया जाएगा.

उसके बाद उन्ही का एक आदमी मटके से पर्ची (Chit) को निकालेगा और नंबर को घोषित करेगा. जिसने उस नंबर पर betting की होगी वह Satta King कहलाएगा.

पिछले कुछ वर्षो से खेल मे बहुत बदलाव किए गए जिसमे Playing cards मे से कोई तीन नंबर को निकाला जाता था लेकिन नाम “Matka” ही था. उसके बाद 1962 मे कल्याण भगत ने Worli Matka की शुरुआत की. इसके बाद रत्न खत्री ने इसमे worli matka के कुछ नियमो मे बदलाव कर 1964 New Worli Matka की शुरुवात की.

कल्याण भगत का मटका हफ्ते के सातों दिन खेला जाता था लेकिन रत्न खत्री ने बदलाव कर इसे हफ्ते के 5 दिन सोमवार से शुक्रवार कर दिया. वोरली मटका भी लोगो के बीच बहुत पॉपुलर हुआ कि Ratna Khatri के नाम जाना जाने लगा और लोग इसे “Main Ratna Matka” के नाम से बुलाने लगे.

अब मॉडर्न समय मे कुछ नए सट्टा punters के द्वारा introduced किए गए जैसे Zhatpat Lottery, Online satta Gambling, Cricket Satta इत्यादि.

सट्टा मटका खेलने की Terminology (Terminology of Satta Matka)

शब्दउनके अर्थ
matka“matka” शब्द मिट्टी के घड़े से लिया गया है.
SP/DP/TPSP का मतलब सिंगल पत्ती, DP का मतलब डबल पत्ती और TP का मतलब ट्रिपल पत्ती
Cycle Pattiपत्ती के अंतिम दो डिजिट (Last Two Digit) को साइकिल पत्ती कहते है जैसे 148 मे साइकिल पत्ती 48 है.
Singleकोई भी डिजिट 0 से 9 तक जो betting मे शामिल होता है.
Jodi/Pairवह जोड़ा (pair) डिजिट 00 से 99 तक जो सट्टा मटका मे शामिल होता है.
FarakClose Result से Open Result के बीच कितने नंबर्स का अंतर है जैसे (57 => 7-5 = 2), (14-7 = 7) इत्यादि.
BerijBerij last digit होता है Pair के जोड़(Addition) का जैसे (56=> 5+6 =11),(37 => 3+7) इत्यादि.
Patti/Pannaसट्टा मटका के रिज़ल्ट मे तीन Digit होते है जिन्हे पत्ती/पन्ना कहते है.
Open/Close Resultसट्टा के नतीजा को दो भागो मे विभाजित किया जाता है जिसके प्रथम भाग को Open Result तथा दूसरे भाग को Close Result कहते है.

प्रमुख सट्टा मटको के नाम

kalyan matkaRajdhani MatkaMadhur Matka
Worli MatkaGali Matka Kuber Matka
Mayapuri MatkaBharti MatkaMumbai Matka
Disabar MatkaMayapuri MatkaNew Mamabhanja Night
Milan BajarSuper Milan NightBhagyalaxmi

ऑनलाइन मटका कैसे खेलें (Online satta matka kaise khelen in hindi)

कुछ नए लोग जो सट्टा के विषय मे जानते तो जरूर है लेकिन उनको यह नही मालूम कि सट्टा मटका ऑनलाइन कैसे खेलें (satta matka online kaise khelen ). ऑनलाइन सट्टा मटका खेलने के लिए satta-king.com वैबसाइट पर जाना होगा और कुछ आसान से स्टेप्स का फॉलो करना होगा.

यह सभी स्टेप्स हमने आपको नीचे बताए है आप जाकर इन्हे फॉलो करके ऑनलाइन सट्टा मटका नंबर लगा सकते है. लेकिन ध्यान रहे यह पूरी तरह गैरकानूनी है पकड़े जाने पर आपको कई साल जेल और जुर्माना भरना पड़ सकता है.

मटका मे नंबर कैसे लगाए (matka me number kaise lagwaye)

Step 1: मटका मे नंबर लगाने के लिए आपको अपने गूगल मे सर्च करना है satta-king.com

Step 2: satta king वैबसाइट कई सट्टा कारोबार kalyaan matka,Dishawar, Old Delhi,Sattaking up, satta gali, Khaiwaal Satta company इत्यादि मे से किसी एक कॉल करके या फिर whatsapp number पर अपना मटका नंबर लगवा सकते है.

Step 3: वैबसाइट पर दिये कंपनी के हैडऑफिस नंबर पर आपको कॉल करना है.

Step 4: अब आपको Satta Matka Headoffice मे अपना नंबर (satta matka number ) 1 से 100 के बीच बता सकते है.

Step 5: पेमेंट के लिए आप अपने Phonepe, Googlepay, Amazon pay का उपयोग कर सकते है.

Step 6: अब आपका नंबर सट्टा मटका मे ऑनलाइन लगा दिया गया है.

सट्टा का नंबर कौन खोलता है (Satta Kaun kholata hain)

सट्टे के नंबर का चुनाव वहाँ उनके साथ काम करने वाले बच्चो के द्वारा कराया जाता है एक मटके मे कई सारी पर्चियाँ डाली और उन पर्चियों मे से पर्ची उस बच्चे से चुनने को कहा जाता है. पहली पर्ची चुनी जाती है उसे online matka first prize माना जाता है. इसके अलावा कुछ अन्य पर्चियों का चुनाव भी किया जाता है जिसमे एक लक्की ड्रॉ भी निकाला जाता है.

वहीं कुछ मटको बाजारो मे उन्ही का विश्वसनीय आदमी मटका से पर्ची चुनता है और कम्यूनिटी के लोगो को बताता है. इसी तरह हर रोज़ कोई अन्य आदमी उस पर्ची को खोलता है.

सट्टा कैसे जीते (How to win Satta?)

Online Satta Matka खेलना इतना आसान नही है कई लोग इसमे अपना पैसा लगा देते है और हार जाते है. इसलिए सट्टा खेलने के लिए एक रणनीति होनी चाहिए तभी आप इस गेम को खेल पाएंगे. सट्टे मे पैसा लगाने से पहले आपको पुराने एक महीने के Satta Result को analyse करना है उसके गणित को समझना है. पिछले एक महीने मे कोई pattern तो नही बन रहा है.

देखो कौनसा नंबर कॉमन है और किस-किस दिन आ रहा है क्या इस पूरे एक महीने के satta result मे कुछ नंबर खास है आपको चेक करना है. कॉमन होने पर आपको Number Tick कर लेना है.

सट्टा जीतने की टिप्स

सट्टा मे पैसा लगाने की योजना बनाने के नियम

  1. पिछले एक महीने के सट्टा रिज़ल्ट को Analyse करें.

  2. हमेशा एक ही नंबर पर पैसा ना लगाए.

  3. जल्दबाज़ी मे किसी भी नंबर पर पैसा ना लगाए.

  4. तुरंत ही अमीर बनने की कोशिश न करें.

  5. पहले सट्टे की टर्मिनोंलॉजी को अच्छे से समझे.

  6. सट्टे के किंग जो अक्सर जीतते है उनका नंबर्स को analyse करें.

  7. दूसरे के कहने पर पैसा ना लगाए, अपनी बुद्धि का उपयोग करें.

सट्टा मटका का रिज़ल्ट कैसे देखें?

एक बार आपने सट्टा लगा दिया तब हर रोज़ देखना होता है कि आपका नंबर हिट किया या नही. रिज़ल्ट को हर रोज़ चेक करने के लिए आप दिये गए निर्देशों का पालन करना होगा. तभी आपको पता चल पाएगा कि आपका नंबर Disawar Result Chart, Kalyan chart मे आपकी किस्मत चमकी या नही.

  1. आपको इंटरनेट पर dpboss.net Search करना है.
  2. अब आपको अपने जिस बाजार Milan Day, Sridevi, Kalyan Matka मे अपना सट्टा नंबर लगाया उसको वहाँ देखना है.
  3. इसके बाद आपको Jodi या Panel मे से किसी एक को सिलैक्ट करना है.
  4. अब आप देख सकते है आपका नंबर आया या नही.

इस तरह से आप सट्टा मटका के सब रिज़ल्ट को देख सकते है और यह चार्ट हर रोज़ बदलता है इसलिए आपको बाजार के विषय मे पता होना चाहिए.

सट्टा जीतने पर पैसा कैसे प्राप्त करें?

सट्टा मटका मे आपकी किस्मत चमक जाती है और आप सट्टा जीत जाते है तब आपको इनहि वैबसाइट के माध्यम सीधे ऑनलाइन पैसा ट्रान्सफर करवा सकते है. इन साइटो का दावा है सट्टे मे जीता हुआ पैसा तुरंत विज्येता को अकाउंट मे ट्रान्सफर किया जाता है.

आपने जिस अकाउंट से पैसा सट्टा मे लगाया था आपको पैसा उसी अकाउंट मे send कर दिया जाता है. इसके लिए आप Phonepe, Paytm,Upi, इत्यादि मे से किसी का उपयोग कर सकते है.

लेकिन थोड़े समय पहले की बात करें तो Bookies पर पैसा आपको दिया जाता था या फिर कोई गोपनीय आदमी पैसे भेजता था.

सट्टा मटका का मुख्यालय कहाँ है?

सट्टा मटका का मुख्यालय महाराष्ट्र राज्य के कल्याण नाम की जगह पर स्थित है चूंकि हम जानते हैं. सट्टा भारत मे Public Gambling Act 1867 के तहत पूरी तरह बैन है इसलिए इनका असली ठिकाना कोई नही जनता है. Kalyan Matka, Rajdhani Matka, Milan Matka जैसे और भी कई satta matka bazar है जिनके मुख्यालय अलग-अलग शहर मे स्थित है.

सट्टा मटका का मालिक कौन है?

सट्टा खेल की शुरुवात रत्न खत्री ने की थी उन्हे सट्टा का राजा कहा जाता था लेकिन उसके बाद कल्याण भगत ने सट्टा मटका की शुरुवात की. पूर्व समय मे इन्ही को ही इसका मालिक माना जाता था लेकिन वर्तमान समय मे इसका मालिक कौन है बता पाना मुश्किल है.

सट्टा मटका का महीने का टर्नओवर कितना हैं?

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सट्टा मटका का अनुमानित turnover monthly 500 करोड़ से ज्यादा है . इसके अलावा आप इस विषय मे wikipedia/matka-gambling पर जाकर पढ़ सकते है.

सट्टा खेलने के फायदे

  • सट्टा उन्ही के लिए है जो जल्दी अमीर बनने के बारे मे सोचते है.
  • जीवन मे कड़ी मेहनत न कर पाने वालो के लिए सट्टा फायदेमंद है.
  • सट्टा का पैसा जीतने पर उस पैसा को व्यापार मे लगाकर और मुनाफा कमा सकते है.
  • बहुत लोग इसे महीने की इंकम का जरिया बनाते है.

कल्याण सट्टा मटका खेलने के नुकसान

  • आपको सट्टा खेलने की आदत लग सकती है
  • नंबर न जीतने पर आपके घर की सुख शांति भंग हो सकती है.
  • सट्टे मे नंबर लगना किस्मत की बात है.
  • हारने पर गुस्सा दूसरों पर उतारना.

सट्टा खेलने से कैसे बचे?

  • अपने परिवार के साथ समय बिताए.
  • ऐसे लोगो से दूर रहे जो सट्टा kalyan matka, disavar matka जैसी एक्टिविटी मे शामिल रहते है.
  • अपना मन शांत रखे और अपने जीवन मे कड़ी मेहनत से काम करें.
  • अपने आप को हमेशा व्यस्त रखें.

भारत के लोग सट्टा के दीवाने क्यो है?

लालच हर व्यक्ति के अंदर होता है सब जल्दी अमीर बनाना चाहते है ऐसा नही लोग मेहनती नही होते है. जब हमे कभी कम मेहनत मे अच्छा मुनाफा दिख जाता है तब हम उसी काम के पीछे भागने लगते है. इसलिए हम कल्याण मटका, कल्याण मटका चार्ट, सट्टा मटका लाइव रिज़ल्ट के पीछे भागते रहते है.

सट्टा को समझने के लिए उसकी शब्दावली Open, Close, Penel, Jodi, single fixed jodi और satta chart के पीछे भागकर अपना समय नष्ट करते है. ये punters लोग बहुत शातिर होते है ये वही सट्टा रिज़ल्ट नंबर लॉटरी नंबर घोषित करते है जिसमे सबसे कम पैसे लगे होते है.

उन्होने कम बोली वाले रिज़ल्ट को घोषित करने पर आपका नाम उसमे आ गया तो आपका लालच बड़ जाता है और अगली बार उससे भी बड़ी बोली लगाने जाते है. जिससे अंततः फायदा punters का होता है आपको तो कुछ हिस्सा ही दिया जाता है.

क्या हमे सट्टा

ऑनलाइन सट्टा मटका कैसे खेलें: FAQs

सट्टा मटका क्या है?

सट्टा मटका एक गैरकानूनी खेल है जिसमे एक मटके मे से कुछ पर्चियों को चुना जाता है उसके आधार पर Satta Matka विजेता का नंबर घोषित किया जाता है.

सट्टा मटका मे 10 के कितने मिलते है?

सिंगल मटका मे आपको 0 से 9 तक के अंक मे से एक अंक चुनना होता है और उसपर आपको दस गुना पैसे मिलते है जैसे 200 पर 200x 10 = 2000 रुपये. यह अलग-अलग पर भी निर्भर करता है.

सट्टे का नंबर कौन देता हैं?

सट्टा का नंबर दिल्ली से खुलता है जिस नंबर पर सबसे कम रकम होती है उसे ही जुगाड़ करके खुलवा दिया जाता है. इससे लोगो के अंदर का लालच बरकरार रहता है.

क्या सट्टा मटका भारत मे बैन हैं?

Public Gambling Act 1867 के अनुसार, किसी भी प्रकार के सट्टा मटका के ठिकाने और bookies या सट्टा लगाना पूरी तरह बैन है.

हमे आशा है आपको समझ आ गया होगा कि ऑनलाइन मटका कैसे खेलें (Online Matka kaise khelen), सट्टे का नंबर कैसे लगाए (Satte ka number kaise lagaye), सट्टा का नंबर कौन खोलता है (satta kaun kholata hain) और हमने विस्तार से जानकारी प्राप्त की सट्टा मटका क्या है कैसे खेलें.

Disclaimer: सट्टा मटका, कल्याण मटका, दिसावर मटका जैसे सट्टा कारोबार मे पैसा लगान पूरी तरह गैरकानूनी है. आपको इसकी आदत लग सकती जिससे आपके परिवार की सुख शांति भंग हो सकती है. अगर आप मटका खेलते है तो आप अपनी ज़िम्मेदारी और जोखिम पर खेलें. हमारी वैबसाइट पर दी गई जानकारी सिर्फ आपके ज्ञान को बढ़ाने के लिए है. अगर आप पैसा जीतते या हारते है तो इससे हमारी वैबसाइट की कोई जवाबदेह नही होगी. इसके अलावा पकड़े जाने कई साल जेल और जुर्माना चुकाना पड़ सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.